उज्जैन जिले में बागरी समाज के लोगों पर हो रहे अत्याचार के विरोध में मुख्यमंत्री के नाम दिया ज्ञापन 

देवास। अखिल भारतीय बागरी समाज देवास द्वारा उज्जैन जिले में बागरी समाज के लोगों पर हो रहे अत्याचार के विरोध में बाबू यादव के नेतृत्व में मुख्यमंत्री के नाम जिलाधीश को ज्ञापन दिया गया। ज्ञापन में बताया गया कि 13 जुलाई को ग्राम नाहरखेेेड़ा थाना झारड़ा तहसील महिदपुर जिला उज्जैन में बागरी समाज के लोगों के साथ गांव सोंधिया राजपूत जाति के लोगों द्वारा हथियारों से लैस होकर बागरी समाज के लोगों पर प्राणघातक हमला कर उन्हें गंभीर रूप से घायल कर दिया गया। पीडि़त परिवार द्वारा इस घटना की रिपोर्ट थाना झारडा जिला उज्जैन में दर्ज की गई। 14 जुलाई को करेडी तहसील तराना जिला उज्जैन में बागरी समाज के मांगीलाल पिता जगन्नाथ चोकीदार एवं कोमलबाई पति मांगीलाल के साथ गुर्जर जाति के लोगों द्वारा प्राणघातक हमला कर मारपीट की गई। 14 जुलाई को ग्राम रूद्राखेडी तहसील महिदपुर जिला उज्जैन में गांव के सवर्ण समाज के लोगों द्वारा पारदी जाति के लोगों के साथ प्राणघातक हमला कर मारपीट की गई। 15 जुलाई को सतेन्द्र पिता संतोष बागरी जिला सतना के साथ भी सवर्ण समाज के लोगों द्वारा फोन पर जाति सूूचक गंदी गालियां देकर जान से मारने की धमकी दी गई। 15 जुलाई को गुना में अनुसूचित जाति के महिला पुरूषों के पर पुलिस द्वारा प्राणघातक मारपीट कर उन्हें शारीरिक और मानसिक रूप से प्रताडित किया गया एवं ऐसी अनेकों घटनाए अनुसूचित जाति के महिला पुरूष और बच्चों के साथ रोज घटित हो रही है। ऐसी गंभीर प्रकृति की घटनाएं होने के बाद भी पुलिस प्रशासन की भूमिका पीडि़त परिवार के प्रति संवेदनशील नहीं दिखाई दे रही हे। ज्ञापन में मांग की गई कि इस प्रकार की घटनाए न हो इस हेतु शासन प्रशासन एवं पुलिस विभाग को उचित दिशा निर्देश प्रदान किए जाएं । इस अवसर पर बड़ी संख्या में समाजजन उपस्थित थे। 

 

Popular posts