जानिए रावणा राजपूत समाज का इतिहास


जो रावणा राजपूत नाम पर शर्म करते है वो जरुर पढे , और अपने सभी रावणा राजपूतो को जागरुक करे , सी आप क्या थे और  क्या बने हुये हो ,


रावणा शब्द का वास्तविक अर्थ —
रावणा कोन थे , रावणा राजपूतो का इतिहास क्या है , रावणा का राजघराने से संबध क्या है ,


इतिहास मे हम ना तो शोषित थे और ना हम पिडित थे ,


लेकीन वर्तमान मे गुलामी की ऐसी मानसिकता से पिडित है ,जिस गुलामी को शायद अपने बाप या दादा ने नही भोगा ,इसके ग्वाह तो हम प्रत्येष है ,


रही बात गुलामी की तो हुकुम पुरे भारत की सभी जातिया गुलाम थी ,800 साल मुगलो की और 250 , साल अंग्रेजो की गुलामी और कई जाति विशेष के जो आम होते हुये भी हमारे ऐतिहासिक अनभिश्रता के कारण खास बने हुये है ,


 और  हमे नीचा दीखाते है जबकी असली रियासतो के राजा , महाराजायो ने मुगलो की गुलामी स्वीकार की और उनके आधिन दास या सेनापति जैसे पदो पर काम कीया ,


राजा कीसी भी रियासत का एक ही होता था , बाकी बची सभी जातिया ,जैसे जाट , माली , गुर्जर ,आम राजपूत आदि सभी उनकी सेवा चाकरी और विभिन्न पदो पर कार्य करते थे ,


जबकी दरोगा , वजीर , ये पद तो राज्य के महत्वपुर्ण पद होते है ,
जिन पर महारानी , के नीचे रानी ख्वासन , इत्यादी के पुत्रो को ही दीया जाता था ,


वर्तमान समय के हीसाब से मंत्री या प्रधान मंत्री ,, ख्वास सचीव या पदअधिकारी ही इतिहास मे दरोगा या वजीर कहलाता था ,
. इसलिए रावणा को गुलामी की मानसिकता को अब छोडना होगा , और शिक्षा और राजनिति मे आगे बढना होगा ,


आजादी से पहले सिर्फ 19 ,रियासते और 3 , ठीकाने थे
इन 22 , रियासत के अंदर हमारे हमारे कीतने लोग होंगे ?????


100 या 200 , 500 , फीर आज सिर्फ 70 , सालो मे रावणा राजपूत समाज की जन संख्या
50-60 लॉख कहा से हो गयी कहा से आये रावणा राजपूत ??


 और  22 ,रियासतो के राजा महाराजायो के 70 , सालो मे कीतने उतराअधिकारी हो सकते है ????


ज्यादा से ज्यादा 50 ,
लेकीन आज लॉखो जनसंख्या मे आम खेती करने वाला सामान्य राजपूत भी अपने आप को राजा महाराजायो की अोलाद मान रहा है , और जिन राजपूतो ने राज कीया था , उनके नाम के आगे ,
राव , महाराणा , राणा , सवाई , राजीव , उमराव , या सामंन्त लगता था ,
इतिहास उठाकर देख लो ,
महाराणा प्रताप , कुम्भा राणा , राव मालदेव , राव जैमल , सवाई जय सिह , आदी लेकीन ,


आज राजतन्त्र नही है तो भी उनके वंशजो के नाम महाराजा गजे सिह , महाराणी वसुन्दरा , रानी दीया कुमारी लगता है ,
ये राव , राणा , महाराणा , और रावणा ,
आम राजपूतो के नाम के आगे नही लगता ,अब हम रावणा क्यो है ??????
 और  रावणा का मतलब क्या है ?????
राव +वर्ण
रावणा
राव का मतलब –राजा महाराजा या श्रेष्ठ व्यक्ति या योद्धा ,


वर्ण का मतलब — वंशज
तो रावणा राजपूत का मतलब हो गया वह राजपूतो जो राजा महाराजा का वंशज का है ,


या खाली राजपूत शब्द आम राजपूत या खेतीबाडी करने वाले सामान्य प्रतिक है ,


जो उच्च घराने के राजपूत वंशज थे उसे रावणा राजपूत कहा गया ,


लेकीन कुछ गद्धार लोगो ने इस समाज को निचा बनाया और सामान्य होते हुये भी खास राजा महाराजा यो के वंशज बन बैठे ,


क्यो की ताकतवर होते है उसे ही बदनाम कीया जाता है ,
.
रावणा राजपूत मे 1000 परिवार मे से 1 , आदमी कोई गुलामी करता है , वो भी उसकी मजबुरी ,हो या और कोई बात हो लेकीन उन एक आदमी की वजह से पुरे समाज को गलत कहना बिल्कुल जायज नही है ,


जागो और अपने लोगो को जगायो हम है सच्चे श्रत्रीय रावणा वीर है और रहेगे ,


Popular posts
युवा कांग्रेस देवास के साथियों द्वारा भारतीय युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष  के  1 वर्ष का कार्यकाल पुर्ण होने पर कोरोना से बचने हेतु मास्क वितरण किए 
अशासकीय क्षेत्र के शिक्षकों की समस्याओं के लिए पीएमओ ने अधिकारी नियुक्त किया
प्रकृति का बचाव ही देश को आगे बढ़ाएगा - महापौर श्रीमती मीना विजय जोनवाल नगर निगम द्वारा नक्षत्र, राशि एवं ग्रहो पर आधारित वाटिका का निर्माण किया गया    
Image
4 लोगों ने मंदिर फिर छोड़ गए सोने-चांदी से भरा बैग
Image
संपत्ति कर एवं यूजर चार्जेस में छूट का पूरक प्रस्ताव प्रस्तुत करेगी पार्षद माया राजेश त्रिवेदी