मध्य प्रदेश से बहार के यात्रियों को दर्शन की अनुमति नहीं तो होटल यात्री गृह भी बंद करने की घोषणा करें प्रशासन
उज्जैन। होटल यात्री एसोसिएशन के अध्यक्ष पंडित राजेश त्रिवेदी ने जिला प्रशासन से मांग की है कि वह नगर के होटल यात्री गृह को भी शासकीय स्तर पर बंद करने की घोषणा करें।पंडित राजेश त्रिवेदी ने बताया कि मध्यप्रदेश के बाहर से श्रावण मास में दर्शनार्थी उज्जैन बाबा के दर्शन के लिए आते हैं। जहां एक ओर सभी ट्रेनें बंद है वहीं दूसरी ओर अपने वाहनों से उज्जैन आने वाले यात्रियों को भी बाबा के दर्शन नहीं होंगे तो ऐसे में उज्जैन आएगा कौन? जब उज्जैन में मध्य प्रदेश के बाहर से यात्री नहीं आएंगे तो होटल, लॉज में रुकने की तो बात ही नहीं है। मध्यप्रदेश में कहीं से भी यात्री आए दर्शन करके उसी दिन वापसी कर सकते हैं। ऐसे में प्रशासन प्रशासनिक स्तर पर ही होटल यात्री गृह को बंद करने की भी घोषणा कर दें, जिससे शासन स्तर पर अन्य सुविधाओं की मांग रखने की स्थिति में होटल यात्री गृह के संचालक आ जाएंगे। कोरोना के कारण लॉकडाउन की स्थिति के बाद अब मंदिर में प्रवेश नहीं, इस प्रकार चार माह पूर्ण हो चुके हैं। इसके बाद मध्य प्रदेश के बाहर से आने वाले यात्रियों को मंदिर में प्रवेश नहीं, ऐसे में यह उद्योग तो पूर्ण रूप से समाप्त ही हो जाएगा। हजारों रुपए महीने की ईएमआई, हजारों रुपए महीने का बिजली का बिल और हजारों रुपए कर्मचारियों की तनख्वाह, जो संभव नहीं। इसलिए प्रशासन अपनी ओर से इन्हें बंद करने की भी घोषणा करें।

Popular posts
युवा कांग्रेस देवास के साथियों द्वारा भारतीय युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष  के  1 वर्ष का कार्यकाल पुर्ण होने पर कोरोना से बचने हेतु मास्क वितरण किए 
अशासकीय क्षेत्र के शिक्षकों की समस्याओं के लिए पीएमओ ने अधिकारी नियुक्त किया
प्रकृति का बचाव ही देश को आगे बढ़ाएगा - महापौर श्रीमती मीना विजय जोनवाल नगर निगम द्वारा नक्षत्र, राशि एवं ग्रहो पर आधारित वाटिका का निर्माण किया गया    
Image
4 लोगों ने मंदिर फिर छोड़ गए सोने-चांदी से भरा बैग
Image
संपत्ति कर एवं यूजर चार्जेस में छूट का पूरक प्रस्ताव प्रस्तुत करेगी पार्षद माया राजेश त्रिवेदी