कभी भी एनसीआर बन सकता है गैस चैंबर


हवा की गति धीमी पड़ने से 24 घंटे में 86 अंकों की बढ़ोतरी के साथ दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण बेहद खराब स्तर पर चला गया। बृहस्पतिवार को दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक 382 पर रिकॉर्ड किया गया, जबकि एनसीआर के गाजियाबाद, नोएडा व ग्रेटर नोएडा की हवा गंभीर स्तर पर पहुंच गई। सफर का पूर्वानुमान है कि वीकेंड पर पूरे एनसीआर में हवा की गुणवत्ता गंभीर स्तर तक जा सकती है।मौसम विभाग का कहना है कि बृहस्पतिवार को हवा की गति 4 किमी प्रति घंटा रही, जबकि इसकी सामान्य रफ्तार 10 किमी प्रति घंटा होनी चाहिए। वहीं, मिक्सिंग हाइट भी औसत 6 किमी से गिरकर 1.5 किमी पर आ गई। दोनों का मिला-जुला असर यह रहा कि प्रदूषण न तो ऊंचाई में फैल सका, न ही सतह पर दूर-दूर तक छिटका। इससे प्रदूषक तत्व दिल्ली-एनसीआर की हवा में लटके रहे।
दूसरी तरफ शुक्रवार और शनिवार को भी हवा की गति में तेजी आने का कोई संकेत नहीं है। वहीं, मिक्सिंग हाइट भी 1.5 किमी के नजदीक ही रहेगी। इस बीच तापमान में भी गिरावट आएगी। मौसमी दशाओं में इस तरह का बदलाव होने से प्रदूषण स्तर में तेजी से बढ़ोतरी होने का अंदेशा है। अगले तीन दिन में इसके गंभीर स्तर में चलने का अनुमान है। इसमें पीएम2.5 सबसे प्रभावी प्रदूषक के तौर पर रहेगा।

पराली के धुएं का हिस्सा कम
खास बात यह है कि इस बीच पराली जलाने के मामले कम दर्ज किए गए हैं। इससे हवाओं की दिशा दक्षिण पश्चिमी होने के बावजूद दिल्ली के प्रदूषण में पराली के धुएं का हिस्सा बृहस्पतिवार को करीब आठ फीसदी रहा। वहीं, शुक्रवार को हवा की दिशा उत्तरी व शनिवार को उत्तर-पूर्वी हो जाएगी। इससे पराली के धुएं का हिस्सा शुक्रवार 4 फीसदी पर पहुंचने का अनुमान है। 

गाजियाबाद रहा सबसे प्रदूषित शहर
सीपीसीबी की तरफ से जिन 101 शहरों का वायु गुणवत्ता सूचकांक जारी किया गया, उसमें से सबसे प्रदूषित शहर गाजियाबाद रहा। गाजियाबाद का वायु गुणवत्ता सूचकांक 432 रिकॉर्ड किया गया, जबकि ग्रेटर नोएडा व नोएडा की हवा 417 व 414 पर रही। तीनों शहरों में प्रदूषण का स्तर गंभीर था, दूसरी तरफ दिल्ली व गुरुग्राम की हवा बेहद खराब स्तर 382 व 328 पर थी। वीकेंड तक एनसीआर के सभी शहर गंभीर स्तर पर पहुंच जाएंगे।


कोहरे में 16 दिसंबर से 100 से अधिक ट्रेन होंगी प्रभावित



सर्दी में रेल यात्रियों की परेशानी एक बार फिर बढ़ने वाली है। हर साल की तरह इस साल भी रेलवे ने कोहरे को ध्यान में रख 66 से अधिक ट्रेन को निरस्त करने का निर्णय लिया है। इसके साथ ही 42 ट्रेन के फेरे कम कर दिए हैं। यह ट्रेन पूरे सप्ताह नहीं चलकर सप्ताह में दो-चार दिन ही चलेंगी। करीब आधा दर्जन ट्रेन को रेलवे ने परिवर्तित रूट पर चलाने का निर्णय लिया है।
कोहरा की संभावना के मद्देनजर रेलवे ने कई रूट पर चलने वाली ट्रेनों को 16 दिसंबर से 31 दिसंबर तक या तो निरस्त कर दिया है या उनके फेरे में कटौती करके चलाई जाएंगी। निरस्त की गई ट्रेनों में जिन्होंने टिकट की बुकिंग की है उन्हें भी परेशान होना पड़ेगा।

कोहरे के कारण निरस्त रहने वाली मुख्य ट्रेन

ट्रेन का नाम                                                                       कब से कब तक निरस्त रहेंगी
. अमृतसर-गोरखपुर-अमृतसर जनसाधारण एक्सप्रेस          22 दिसंबर से 26 जनवरी तक
.वाराणसी-गोंडा-वाराणसी इंटरसिंटी एक्सप्रेस                    16 दिसंबर से 31 जनवरी तक
. नई दिल्ली-रोहतक-नई दिल्ली एक्सप्रेस                            16 दिसंबर से 31 जनवरी तक
. अमृतसर-लालकुंआ-अमृतसर एक्सप्रेस                         21 दिसंबर 25 जनवरी तक
. अंबाला-बरौनी-अंबाला हरिहरनाथ एक्सप्रेस                  17 दिसंबर से 30 जनवरी तक
. ऊंचाहार एक्सप्रेस                                                     16 दिसंबर से 2 फरवरी तक
. लिच्छवी एक्सप्रेस                                                      16 दिसंबर से 2 फरवरी तक
. बरेली-प्रयाग-बरेली पैसेंजर                                          16 दिसंबर से 1 फरवरी तक
. जम्मूतवी-हरिद्वार-जम्मूतवी                                          22 दिसंबर से 27 जनवरी तक
. अनवरगंज एक्सप्रेस                                                   16 दिसंबर से 29 जनवरी तक
. श्रीगंगानगर-जम्मूतवी एक्सप्रेस                                      18 दिसंबर से 30 जनवरी तक
. नई दिल्ली-मालदा टाउन                                              19 दिसंबर से 30 जनवरी तक

कई ट्रेन निरस्त रहेंगी
अजमेर अमृतसर एक्सप्रेस, देहरादून-वाराणसी एक्सप्रेस, वाराणसी-सिंगरौली इंटरसिटी, चोपन-शक्तिनगर वाराणसी लिंक एक्सप्रेस, शहीद एक्सप्रेस, छपरा-वाराणसी-छपरा इंटरसिटी, हरिद्वार-रामनगर एक्सप्रेस, मऊ-लखनऊ-मऊ एक्सप्रेस, डबल डेकर दिल्ली-लखनऊ एक्सप्रेस, कोलकाता-जम्मूतवी-कोलकाता एक्सप्रेस, सियालदा-आनंद विहार-सियालदा एक्सप्रेस, कुंभ एक्सप्रेस, उपासना एक्सप्रेस, पटना-वाराणसी मेमू एक्सप्रेस।

इन ट्रेन के फेरे किए गए कम 
आनंद विहार-भागलपुर गरीब रथ एक्सप्रेस सप्ताह में तीन दिन चलेगी। बुधवार को यह ट्रेन निरस्त रहेगी। इसी तरह दिल्ली-आजमगढ़ कैफियत एक्सप्रेस बृहस्पतिवार व शनिवार को निरस्त रहेगी। आजमगढ़-दिल्ली कैफियत एक्सप्रेस बृहस्पतिवार व रविवार को निरस्त रहेगी। राजेंद्र नगर-दिल्ली संपूर्ण क्रांति बुधवार को निरस्त रहेगी। दिल्ली-राजेंद्र नगर संपूर्ण क्रांति बृहस्पतिवार को निरस्त रहेगी। नई दिल्ली-जयनगर स्वतंत्रता सेनानी शुक्रवार को निरस्त रहेगी। जयनगर-नई दिल्ली स्वतंत्रता सेनानी बृहस्पतिवार को निरस्त रहेगी। गया-नई दिल्ली महाबोधि एक्सप्रेस सोमवार को निरस्त रहेगी। नई दिल्ली-गया महाबोधि शुक्रवार को निरस्त रहेगी। बरौनी-लखनऊ मंगलवार को व लखनऊ जंक्शन-बरौनी बुधवार को निरस्त रहेगी। आनंद विहार-रक्सौल सत्याग्रह बृहस्पतिवार को निरस्त रहेगी। आनंद विहार-मुजफ्फरपुर सप्तक्रांति बृहस्पतिवार को निरस्त रहेगी। आनंद विहार-कामाख्या नार्थ ईस्ट एक्सप्रेस शुक्रवार को निरस्त रहेगी। नई दिल्ली-न्यू जलपाईगुड़ी एक्सप्रेस बुधवार को निरस्त रहेगी। दिल्ली-कटिहार चंपारण हमसफर शुक्रवार को निरस्त रहेगी। आनंद विहार-गोरखपुर हमसफर बृहस्पतिवार व शनिवार को निरस्त रहेगी। इसके अलावा कई ट्रेन परिवर्तित रूट से चलेगी। इनमें मुख्य रूप से पटना-कोटा-पटना एक्सप्रेस, रांची-अजमेर-रांची एक्सप्रेस शामिल हैं। 


Popular posts
राजपूत महिलाओं का दशहरा मिलन
Image
युवा कांग्रेस देवास के साथियों द्वारा भारतीय युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष  के  1 वर्ष का कार्यकाल पुर्ण होने पर कोरोना से बचने हेतु मास्क वितरण किए 
अशासकीय क्षेत्र के शिक्षकों की समस्याओं के लिए पीएमओ ने अधिकारी नियुक्त किया
प्रकृति का बचाव ही देश को आगे बढ़ाएगा - महापौर श्रीमती मीना विजय जोनवाल नगर निगम द्वारा नक्षत्र, राशि एवं ग्रहो पर आधारित वाटिका का निर्माण किया गया    
Image
4 लोगों ने मंदिर फिर छोड़ गए सोने-चांदी से भरा बैग
Image