देश की शीर्ष अदालत ने फिर खारिज किए राफेल खरीदी प्रक्रिया में गड़बड़ी के आरोप

 देश की शीर्ष अदालत द्वारा आज दिए गए फैसले से साबित हो गया है कि राफेल के मुद्दे पर राहुल, सोनिया और पूरी कांग्रेस देश को गुमराह करने का काम कर रही थी। उनके द्वारा दिये जा रहे कुतर्कों में कोई सच्चाई नहीं थी और वे ऐसा जानबूझकर सिर्फ राजनीतिक फायदे के लिए कर रहे थे। अपनी इस करतूत के लिए राहुल और सोनिया को पूरे देश से माफी मांगनी चाहिए। यह बात भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री राकेश सिंह ने सुप्रीम कोर्ट द्वारा राफेल विमान सौदे के संबंध में दिये गए निर्णय का स्वागत करते हुए कही।


                श्री राकेश सिंह ने कहा कि 14 दिसम्बर, 2018 के अपने फैसले में माननीय सुप्रीम कोर्ट ने राफेल सौदे को सही मानते हुए इसकी जांच के आदेश दिये जाने की मांग ठुकरा दी थी। लेकिन पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव और लोकसभा चुनाव में राजनीतिक फायदा लेने और प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार की छवि खराब करने के लिए राहुल, सोनिया और पूरी कांग्रेस मनगढ़ंत आरोप लगाते रहे। देश की जनता को गुमराह करने की कोशिशें करते रहे। सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को इस मामले में लगाई गईं पुनर्विचार याचिकाएं खारिज करते हुए एक बार फिर यह स्पष्ट कर दिया है कि राफेल की खरीदी प्रक्रिया सही थी और इसकी जांच कराने या इस मामले में एफआईआर कराने की कोई जरूरत नहीं है। श्री सिंह ने कहा कि कांग्रेस के नेता यह जानते थे कि देश की सुरक्षा की मजबूती के लिए राफेल विमानों की अभी कितनी जरूरत है। वे यह भी जानते थे कि जो प्रपंच वे रच रहे हैं, इससे खरीदी प्रक्रिया बाधित हो सकती है। इसके बावजूद उन्होंने अपने राजनीतिक और चुनावी फायदे के लिए देश की सुरक्षा से खिलवाड़ किया, इसके लिए उन्हें देश की जनता से तुरंत माफी मांगना चाहिए।


Popular posts