ग्रामीण महिलाओं ने दुग्ध डेरी की शुरुआत कर बढ़ाया आत्मनिर्भरता की ओर कदम

उज्जैन। कृपा सोशल वेलफेयर सोसायटी उज्जैन के तहत संचालित उत्थान परियोजना के अंतर्गत लक्षित ग्राम नानाखेड़ी में निर्मित स्वयं सहायता समूहों के सदस्यों द्वारा आत्मनिर्भर बनने की ओर कदम बढ़ाते हुए ग्राम में उज्जैन दुग्ध संघ मर्यादित (साँची) के सहयोग से महिला दुग्ध समिति की शुरुआत की गई। दुग्ध डेरी शुभांरभ में गाँव के सरपंच प्रतिनिधि श्री विक्रम सिंह आँजना, कृपा सोशल वेलफेयर सोसायटी, उज्जैन के निर्देशक फादर सुनील जार्ज एवं साँची डेरी के सुपरवाईजर श्री मनोज शर्मा द्वारा महिलाओं को सर्वप्रथम कोविड-19 महामारी के बचाव जैसे-मास्क का उपयोग, सामाजिक दूरी बनाए रखने तथा इस संबंध में राज्य शासन के नियमों के प्रति जागरूक करते हुए, महिलाओं को दुग्ध डेरी को सुचारू रूप से संचालन के लिए उन्हें मार्गदर्शन और प्रोत्साहित किया गया।
कार्यक्रम का संचालन परियोजना समन्वयक गोपाल गुप्ता तथा आभार सिस्टर ऑनसिट ने माना। कार्यक्रम में फादर सबासटियन, श्री राधेश्याम वाघेला, फिल्ड वर्कर, श्री दिनेश केवट, सहायक सचिव, श्री रामकिशन चौधरी एवं समूह के महिला सदस्यगण तथा ग्रामीणजन उपस्थित रहे। उक्त जानकारी कृपा सोशल वेलफेयर सोसायटी, उज्जैन के निर्देशक फादर सुनील जार्ज द्वारा दी गई।


Popular posts