पुलिस कमिश्नर सज्जनार को क्यों कहा जाता है 'एनकाउंटर मैन'


हैदराबाद में पशु चिकित्सक के साथ हैवानियत करने वाले चारों आरोपियों को पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया है। तेलंगाना पुलिस के अनुसार आरोपियों को राष्ट्रीय राजमार्ग-44 पर क्राइम सीन रीकंस्ट्रक्ट करने के लिए ले जाया गया था। इस घटनाक्रम के बाद साइबराबाद पुलिस के कमिश्नर वीसी सज्जनार का नाम फिर चर्चा में है।साइबराबाद पुलिस कमिश्नर वीसी सज्जनार को एनकाउंटर स्पेशलिस्ट के रूप में जाना जाता है। उन्हें एनकाउंटर मैन भी कहा जाता है। उनके कार्यकाल के दौरान कई ऐसे एनकाउंटर हुए हैं जिसकी गूंज पूरे देश में सुनाई दी।
महिला पशु चिकित्सक मामला
तेलंगाना के साइबराबाद में 27 और 28 नवंबर की दरमियानी रात को चार लोगों ने एक महिला पशु चिकित्सक के साथ दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया। शुक्रवार को जब तेलंगाना पुलिस चारों आरोपियों को नेशनल हाईवे-44 के नजदीक स्थित घटनास्थल पर क्राइम सीन को रीकंस्ट्रक्ट करने के लिए लेकर गई तो उन्होंने भागने की कोशिश की। इस दौरान पुलिस से हुई मुठभेड़ में चारों आरोपी मारे गए। 
माओवादियों के खिलाफ एनकाउंटर
वीसी सज्जनार ने तत्कालीन आंध्र प्रदेश में सक्रिय माओवादियों के खिलाफ भी कई एनकाउंटर किए थे। इनका नाम सुनते ही माओवादी खौफ खाते थे।  हैदराबाद में बतौर पुलिस कमिश्नर उन्होंने डेढ़ साल पहले ही कमान संभाली थी।
वारंगल तेजाब कांड
तेलंगाना (तत्कालीन आंध्र प्रदेश) के वारंगल में साल 2008 में एक छात्रा के ऊपर तेजाब से हमला किया गया। इस दौरान छात्रा गंभीर रूप से जख्मी हो गई थी। इस मामले ने भी राज्य में खूब सुर्खियां बटोरीं। पुलिस ने इस मामले में पकड़े गए तीन आरोपियों को एक मुठभेड़ में मार गिराया था। तब भी पुलिस ने कहा था कि आरोपियों ने पुलिस टीम पर हमला किया जिस दौरान हुई गोलीबारी में तीनों आरोपी मारे गए।


Popular posts